[

]

Najibabad Vidhan Sabha Chunav Result Live: बिजनौर की नजीबाबाद विधानसभा ऐसी सीट है, जहां भाजपा 1991 के बाद से जीत के लिए तरस रही है. 2017 की मोदी लहर में भी नजीबाबाद में केसरिया झंडा नहीं फहर पाया था. वहीं इस बार भी इस सीट पर सपा के प्रत्‍याशी आगे चल रहे हैं. 2022 के चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के मुकाबले में तीन प्रमुख मुस्लिम प्रत्याशी हैं. भाजपा ने इस बार प्रत्याशी बदलकर पूर्व सांसद राजा भारतेंद्र सिंह (RAJA BHARATENDRA SINGH) को मैदान में उतारा है. सपा-रालोद गठबंधन की तरफ से मौजूदा विधायक हाजी तस्लीम अहमद (TASLEEM AHMAD) खड़े हैं. लगातार दो जीत के बाद उनका यह तीसरा चुनाव है. बसपा से पूर्व चेयरमैन खलील अहमद के बेटे शाहनवाज आलम (SHAHNAWAZ ALAM) पहली बार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. कांग्रेस ने मोहम्मद सलीम अंसारी MOHD (SALEEM ANSARI) पर दांव खेला है.

मुस्लिम बहुल नजीबाबाद में 2017 के चुनाव की बात करें तो यहां समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी तस्लीम अहमद ने सभी प्रत्याशियों को मात दी थी. वह दूसरी बार यहां विधायक की कुर्सी पर बैठे थे. इस चुनाव में तस्लीम अहमद को 81081 मत मिले थे. कुल मतदान में से 37.55 फीसदी वोट उनके खाते में गए थे. इस चुनाव में ​भाजपा के राजीव कुमार अग्रवाल दूसरे नम्बर पर रहे थे. उन्हें 79080 मत मिले थे और उनका मत प्रतिशत 36.63 रहा था. तीसरे स्थान पर बसपा के जमील अहमद 45070 मत और 20.88 प्रतिशत वोट लेकर थे. चौथे नम्बर पर आरएलडी की लीना सिंघल थीं.

कंबल के लिए मशहूर नजीबाबाद सीट पर 1957 में हुए पहले चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की थी. कांग्रेस के हाजी मोहम्मद इब्राहिम यहां के पहले विधायक थे. इस सीट पर दलित और मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका निभाते हैं. नजीबाबाद सीट 2007 तक सुरक्षित (एससी) सीट थी. 2008 में परिसीमन के बाद यह सामान्य सीट हो गयी. 2012 के आंकड़ों के अनुसार यहां करीब साढ़े तीन लाख मतदाता हैं. इनमें से 138697 महिला और 164005 पुरुष मतदाता हैं. यहां मुस्लिम मतदाताओं की संख्या ज्यादा है. इसके अलावा वैश्य, अनुसूचित जनजाति, रवा राजपूत, ब्राह्मण और जाट मतदाता भी यहां वोटों का गणित बनाते बिगाड़ते हैं.

राजनीतिक इतिहास
1957 कांग्रेस के हाजी मोहम्मद इब्राहिम
1962 में कांग्रेस के श्रीराम
1967 में निर्दलीय प्रत्याशी केडी सिंह
1969 में भारतीय क्रांति दल के देवेंद्र सिंह
1974 में कांग्रेस के सुखान सिंह
1977 में जनता पार्टी के मुकंदी सिंह
1980 में कांग्रेस के रति राम
1985 में सुक्कम सिंह
1989 में बीएसपी के वलदेव सिंह
1991 में बीएसपी के राजेंद्र
1993, 1996 और 2002 में सीपीआईएम के राम स्वरूप सिंह
2007 में बीएसपी के शीशराम सिंह
2012 में बीएसपी की तस्लीम अहमद
2017 में समाजवादी पार्टी से तस्लीम अहमद

आपके शहर से (बिजनौर)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Elections

[

]

Source link

By bihardelegation21

Chandan kumar patel (BA) , I am not social worker I am Social Media Worker.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik? Ariana Grande Net Income आलिया भट्ट कितना कमाती है Aalia Bhath Earning
दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik?
%d bloggers like this: