[

]

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का पड़ोसी शहर है बाराबंकी (Barabanki Sadar Assembly Seat).  यहां पर विधानसभा की कुल 6 सीटें हैं. 2017 के चुनावों (UP Chunav Result) में यहां की 6 में से पांच सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी. सिर्फ सदर सीट पर सपा ने जीत हासिल की थी. ऐसे में इस बार भाजपा की कोशिश जीत की है.

2017 के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election Result) में बाराबंकी में कुल 40.54 प्रतिशत वोट पड़े थे. तब सपा से धर्मराज सिंह यादव (SP Dharmraj Singh) ने बहुजन समाज पार्टी के सुरेंद्र सिंह को 29 हजार से अधिक वोट से हराया था. इस बार भी समाजवादी पार्टी ने धर्मराज सिंह को चुनावी दंगल में उतारा है. वहीं, बसपा ने डॉ विवेक सिंह (BSP Vivek singh), कांग्रेस ने रुही अरशद (Cong Roohi Arshad) और भाजपा की तऱफ से राम कुमारी मौर्य मैदान (BJP Ramkumari Maurya) में हैं.

इस सीट का ये है इतिहास

इस सीट पर 27 फरवरी को वोटिंग हुई थी और 55.5 फीसदी मतदान हुआ था. इस सीट पर शुरुआती रुझान सामने आने लगे हैं. नतीजे जानने के लिए हमारे साथ लाइव जुड़े रहें. 2012 के चुनाव की बात करें तो बाराबंकी की सदर सीट पर समाजवादी पार्टी ने जीत हासिल की थी. यहां से सपा के धर्मराज खड़े हुए थे और उन्हें 82343 मत मिले थे. दूसरे स्थान पर बहुजन समाज पार्टी के संग्राम सिंह रहे थे. सिंह को धर्मराज ने 22770 मतों से ​हराया था. 2017 में भी में धर्मराज दूसरी बार यहां से विधायक बने थे. बाराबंकी की सदर एकमात्र सीट थी, जिस पर सपा को जीत मिली थी.

सपा के संस्थापक को मिला जनता का प्यार

सपा के संस्थापक बेनी प्रसाद वर्मा को यहां कि जनता ने काफी प्यार दिया. इस जनपद की स्थापना से ही वे यहां की राजनीति में काफी सक्रिय रहे और यहां पर उनकी पकड़ बेहद मजबूत रही. यही कारण था कि 2012 में चुनावों में समाजवादी पार्टी ने सभी 6 सीटों पर जीत दर्ज की थी. बता दें, 1980 में कांग्रेस ने यहां से जीत दर्ज की थी. फिर यहां से कांग्रेस का पत्ता साफ हो गया और मुख्य टक्कर सपा और भाजपा के बीच होने लगी.

राजा बदलते रहे पाला

राजा राजीव कुमार सिंह के शामिल होने के बाद इस सीट पर भाजपा की पकड़ और मजबूत हो गई. राजघराने से संबंध रखने वाले राजीव यहां से 6 बार विधायक बने. राजीव ने पहला चुनाव निर्दलीय, दूसरा कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर लड़ा था. लेकिन 1991 और 1993 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद उन्होंने 1996 में भाजपा का हाथ पकड़ लिया और जीत भी हासिल की. वो 2002 तक वह भाजपा में रहे और 2007 में सपा का दामन थाम लिया था.

आपके शहर से (बाराबंकी)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Elections

[

]

Source link

By bihardelegation21

Chandan kumar patel (BA) , I am not social worker I am Social Media Worker.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed

दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik? Ariana Grande Net Income आलिया भट्ट कितना कमाती है Aalia Bhath Earning
दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik?
%d bloggers like this: