• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Only One Nomination Is Possible For The Post Of President In JDU, No Change In The State Organization

पटना31 मिनट पहले

जदयू के बिहार प्रदेश इकाई के लिए प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव 27 नवंबर को होना है।

जदयू के बिहार प्रदेश इकाई के लिए प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव 27 नवंबर को होना है। उससे पहले 26 नवंबर को नामांकन की प्रक्रिया होनी है। दैनिक भास्कर आपको सबसे पहले यह बता रहा कि इस नामांकन प्रक्रिया में मात्र एक नॉमिनेशन किया जाएगा। वह नॉमिनेशन जदयू के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा का होगा।

उनके खिलाफ एक भी अन्य नॉमिनेशन नहीं किया जाएगा। जैसे ही सिंगल नॉमिनेशन उमेश कुशवाहा का होगा, उसके बाद इलेक्शन की प्रक्रिया होगी। जितनी भी डेलीगेट्स आएंगे उनको यह सूचना दे दी जाएगी कि सिर्फ एक ही नॉमिनेशन उमेश कुशवाहा का हुआ है। इस तरह उमेश कुशवाहा निर्विरोध अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हो जाएंगे।

उमेश कुशवाहा को लेकर पार्टी में कोई गतिरोध नहीं है। उमेश कुशवाहा स्मूथ तरीके से पार्टी का संचालन कर रहे हैं। ना उनके खिलाफ कोई गुट बना है और ना ही वह किसी गुट में शामिल है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आदेश पर वह उतना ही काम करते, जितना उन्हें कहा जाता।

वैसे भी उमेश कुशवाहा का टेन्योर नहीं हुआ था। बीच में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह को हटाकर उमेश कुशवाहा को जिम्मेदारी दी गई थी। ऐसे में महज 22 महीने ही उमेश कुशवाहा इस पद पर रहे। इस मुताबिक उमेश कुशवाहा का निर्वाचन होना एक बार फिर से तय माना जा रहा है।

उमेश कुशवाहा का टेन्योर नहीं हुआ था। बीच में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह को हटाकर उमेश कुशवाहा को जिम्मेदारी दी गई थी।

जदयू का समीकरण के मुताबिक उमेश कुशवाहा इस पद पर फिट बैठते हैं। लव-कुश समीकरण को लेकर चलने वाली जदयू के लिए प्रदेश अध्यक्ष कुशवाहा हो यह जरूरी है। क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुर्मी समुदाय से आते हैं। वह जदयू के सर्वमान्य नेता है। वही अगड़ों के नाम पर अध्यक्ष ललन सिंह है।

ऐसे में जरूरत एक कुशवाहा नेता की है, जो की-पोस्ट पर हो और उमेश कुशवाहा इसके लिए मुनासिब नाम है। इनके नाम पर कोई विरोध भी नहीं है। सूत्रों की माने तो उमेश कुशवाहा से बड़ा प्रदेश स्तर पर कुशवाहा में कोई नेता नहीं है। उपेंद्र कुशवाहा ने पहले ही प्रदेश अध्यक्ष बनने से मना कर दिया है। वह जदयू संसदीय बोर्ड के चेयरमैन है।

उमेश कुशवाहा स्मूथ तरीके से पार्टी का संचालन कर रहे हैं। ना उनके खिलाफ कोई गुट बना है और ना ही वह किसी गुट में शामिल है।

उमेश कुशवाहा स्मूथ तरीके से पार्टी का संचालन कर रहे हैं। ना उनके खिलाफ कोई गुट बना है और ना ही वह किसी गुट में शामिल है।

चर्चा में यह है कि जदयू और राजद का विलय होना है। ऐसे में जदयू कोई बड़ा रिस्क नहीं लेना चाहती है। जिस तरह से पार्टी स्मूथ तरीके से चल रही है। उसमें कोई भी व्यवधान नहीं डालना चाह रही है। आने वाले महीनों में यदि जदयू और आरजेडी का विलय हो जाता है तो, उमेश कुशवाहा को प्रदेश स्तर का ही कोई पोस्ट देकर लव-कुश समीकरण को नीतीश कुमार आगे भी साधेंगे। फिलहाल प्रदेश स्तर पर संगठन में बहुत फेरबदल की गुंजाइश नहीं दिख रही है।

इस पूरे मसले पर वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय कहते है कि उमेश कुशवाहा का कोई विकल्प अभी जदयू में नही है। क्योंकि ये लवकुश समीकरण को साथ रहे है। उमेश कुशवाहा बड़े सावधानी के साथ पार्टी को चला रहे है। ऐसे में आगे यदि जदयू-राजद का विलय होता है तो उमेश कुशवाहा को डिस्टर्ब करके कुशवाहा समाज की नाराजगी जदयू नही उठाना चाहता है। ऐसे में उमेश कुशवाहा लगातार प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

By bihardelegation21

Chandan kumar patel (BA) , I am not social worker I am Social Media Worker.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik? Ariana Grande Net Income आलिया भट्ट कितना कमाती है Aalia Bhath Earning
दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik?
%d bloggers like this: