• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • According To The Intelligence Report, The Grand Alliance Ahead On The Ground, The Excitement Increased Due To VIP AIMIM

पटनाएक घंटा पहलेलेखक: बृजम पांडेय

कुढ़नी विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में करीब 57 फीसदी वोटिंग हुई, जो पिछली बार से 7 फीसदी कम है। वोटिंग के दौरान मतदाताओं का जो मिजाज नजर आया, उससे ये कह पाना मुश्किल है कि भाजपा या जेडीयू के कैंडिडेट में से कौन जीतेगा, क्योंकि फाइट क्लोज है। हालांकि खुफिया रिपोर्ट की मानें तो यहां बीजेपी के जीतने की संभावना ज्यादा है। जबकि ग्राउंड पर महागठबंधन को बढ़त मिलता दिख रहा है। दोनों में से कोई भी जीते लेकिन जीत का अंतर कुछ हजार में ही होगा। भास्कर एनालिसिस में जानिए कि भाजपा या जेडीयू का कैंडिडेट क्यों जीत रहा है? किसे-किसके वोट मिलने की संभावना है और किसके वोट किस पार्टी ने काटे…

सबसे पहले समझिए, बीजेपी को किसके-किसके वोट मिले

जानकारी के मुताबिक कुढ़नी में इस बार सवर्ण वोटर्स ने एकमुश्त होकर बीजेपी को वोट दिया है। बोचहां उपचुनाव में कैंडिडेट सिलेक्शन से उपजी नाराजगी को बीजेपी यहां पूरी तरह से दूर कर दी थी। केदार गुप्ता को टिकट देने के बाद वैश्य वोटर्स भी बीजेपी के खाते में आते दिख रहे हैं। केदार गुप्ता की छवि के कारण पिछड़ा वर्ग में भी उनकी अच्छी-खासी पकड़ देखने को मिली। इसके साथ ही यहां बीजेपी के हिस्से में दलित वोटर्स का एक बड़ा चंक भी आता हुआ दिख रहा है। इनके अंदर नीतीश सरकार के खिलाफ नाराजगी है। खासकर ताड़ीबंदी और उसके बाद की जा रही कार्रवाई से इनके भीतर नाराजगी है। खास कर दलित वर्ग के युवा वोटर्स ने बीजेपी को वोट दिया है।

कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में तेजस्वी यादव ने पासा को पूरी तरह से पलट दिया।

अब जानिए, महागठबंधन को किसका समर्थन मिला

बूथों पर उमड़ी लाइन के मिजाज से जो चीजें निकल कर सामने आ रही है, उसके मुताबिक कुर्मी, कुशवाहा, यादव और मुस्लिम वोटर्स ने महागठबंधन को बड़ी तादाद में अपना समर्थन दिया है। इसके अलावा सवर्ण में राजपूत वर्ग के भी वोट मिलते हुए दिख रहे हैं। साथ ही कुछ हिस्सों में अति पिछड़ा और दलित वोटर्स ने भी लालू यादव के नाम पर महागठबंधन के उम्मीदवार में अपना विश्वास जताया है। आखिरी समय में तेजस्वी यादव की ताबड़तोड़ जनसभाओं का असर भी होता हुआ दिख रहा है। तेजस्वी यादव के इमोशनल कार्ड का असर होता हुआ भी दिख रहा है।

आखिरी समय में तेजस्वी ने खेला इमोशनल कार्ड

कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में तेजस्वी यादव ने पासा को पूरी तरह से पलट दिया। जिस तरह से बीजेपी ने बढ़त बनाई हुई थी, तेजस्वी यादव का इमोशनल कार्ड वोटरों के सर चढ़कर बोला। तेजस्वी यादव ने जिस तरह से अपने बीमार पिता आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव का इमोशनल कार्ड खेला, उसके बाद वोटर महागठबंधन के पक्ष में आ गए। जाहिर सी बात है महागठबंधन के उम्मीदवार कुशवाहा जाति से हैं, उनका अपना 25 हजार वोट है और इसके बाद मुसलमान 45 हजार और यादव 30 हजार हैं। इन तीनों को मिलाकर महागठबंधन के उम्मीदवार जीत के करीब जाते हुए दिख रहे हैं।

कुढ़नी में रवि किशन बोले- बिहार में लौट आया जंगलराज

कुढ़नी में रवि किशन बोले- बिहार में लौट आया जंगलराज

AIMIM और VIP ने चुनाव को बनाया दिलचस्प

इस चुनाव में AIMIM, VIP और शेखर सहनी फैक्टर बन कर उभरे है। इन्होंने चुनाव को दिलचस्प जरूर बनाया लेकिन, इनका इफेक्ट बहुत हद तक जमीन पर नही दिख रहा है। वजह साफ है कि मुसलमान वोट के लिए ओवैसी की पार्टी से खड़े उम्मीदवार गुलाम मुर्तजा अंसारी को लेकर मुसलमानों में उत्साह तो बहुत था लेकिन वो वोट में कन्वर्ट नही हो पाया। वहीं VIP के उम्मीदवार नीलाभ सिंह की बात करें तो, भूमिहारों का कुछ वोट जरूर इन्होंने काटा है, इनको मुकेश सहनी की वजह से कुछ वोट सहनी का मिल रहा है लेकिन वो वोट उनको जीत तक नही पहुंचाएगा। क्योंकि, सहनी जाति से ही राजद के बागी नेता शेखर सहनी ताल ठोक रहे हैं। ऐसे में VIP को निर्दलीय शेखर सहनी से ही टक्कर मिल गई।

अब कुढ़नी के जातिगत समीकरण को समझिए

कुढ़नी विधानसभा में जातिगत समीकरण देखें तो भूमिहार 32-35 हजार है। वहीं, राजपूत 10-12 हजार हैं। ब्राह्मण और कायस्थ की आबादी 8-10 हजार है। वैश्य वोटर 35 हजार है। पासवान 20 हजार, मुसहर और उनकी सम जातियां अन्य 15 हजार है। मुसलमान 45 हजार है तो, यादव 30 हजार है। कुढ़नी में कुशवाहा 25 हजार है तो सहनी और रविदास मिलाकर 48 हजार है। ऐसे में इस क्षेत्र में मुसलमान और यादव डिसाइडिंग फैक्टर हैं। माना जाता है कि MY समीकरण आरजेडी के साथ है तो ऐसे में यह समीकरण महागठबंधन के पक्ष में जाता दिख रहा।

पिछले चुनाव के हार-जीत का आंकड़ा जान लीजिए

हालांकि, इसके बावजूद कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र में कुल वोटर 3 लाख 11 हजार 728 हैं। पिछले चुनाव की बात करें तो राजद के अनिल सहनी को कुल 78 हजार 549 वोट मिले थे। अनिल सहनी का वोट प्रतिशत 40.23 रहा था। जीत मात्र 712 वोटों से मिली थी। वहीं, बीजेपी उम्मीदवार केदार गुप्ता दूसरे स्थान पर रहे थे, उन्हें कुल 77 हजार 837 वोट मिले थे। केदार गुप्ता को वोट प्रतिशत 39.86 रहा था। वोट प्रतिशत में जीत का अंतर मात्र 0.37 प्रतिशत रहा था।

कुढ़नी में फिलहाल 13 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है।

कुढ़नी में फिलहाल 13 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है।

बीजेपी इस बार इस 0.37 प्रतिशत को बराबर कर चुनाव जीतना चाह रही है। लेकिन, उस समय भाजपा के साथ जदयू, VIP और HAM थी। इस बार VIP तो नही लेकिन, जदयू और HAM महागठबंधन के साथ है। ऐसे में, ये मुकाबला काफी दिलचस्प होने वाला है। जीत-हार की मार्जिन पिछली बार की तरह काफी कम रहने वाली है।

खबरें और भी हैं…



Source link

By bihardelegation21

Chandan kumar patel (BA) , I am not social worker I am Social Media Worker.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik? Ariana Grande Net Income आलिया भट्ट कितना कमाती है Aalia Bhath Earning
दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik?
%d bloggers like this: