भागलपुर6 मिनट पहलेलेखक: त्रिपुरारि

  • कॉपी लिंक

मेडिकल काॅलेज राेड में बना यूरिनल। इसके चाराे और गंदगी है। जाने का रास्ता तक नहीं है।

शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए दाे माह बचे हैं। अक्टूबर से दिसंबर के बीच टीम औचक निरीक्षण के लिए कभी भी शहर आ सकती है। लेकिन नगर निगम ने इसकी काेई तैयारी नहीं की है।

यह अपने संसाधनाें का ठीक से उपयाेग नहीं कर पा रहा है। यह दीवाराें पर स्लाेगन लिखने से आगे नहीं बढ़ पा रहा है। अगर यही हालत रही ताे यह फिर रैंकिंग में पिछड़ जाएगा।

नगर निगम ने वार्डाें में सफाई के लिए 55 नए ऑटाे टिपर खरीदे हैं। 48 पुराने भी हैं। ये कहां सफाई कर रहे हैं इसके लिए सभी वाहनाें पर जीपीएस लगाना है। निगम ने इस साल 45 नए ऑटाे टिपराें में जीपीएस ताे लगाया लेकिन इसके लिए कंट्राेल रूम नहीं बनाया है। 42 अन्य वाहनाें में स्मार्ट सिटी ने इस सप्ताह जीपीएस सिस्टम लगाया है।

जानिये, सफाई के लिए बनाई गई याेजनाओं की क्या है हालत

1. डाेर-टू-डाेर कचरा उठाव : इसके लिए डेढ़ लाख डस्टबिन की खरीद हाेनी थी। लेकिन अब तक केवल 15 हजार ही खरीदे गए हैं। हर वार्ड में केवल चार-चार साै डस्टबिन ही बांटे गए। पार्षदाें ने इतने कम डस्टबिन बांटने से इनकार कर दिया। इसलिए यह याेजना सफल नहीं हाे पाई है।

2. वार्डाें में सफाई : 206 हाथ ठेला सभी वार्डाें में कूड़ा कलेक्शन के लिए दिए गए हैं। 55 आॅटाे ट्रिपर भी खरीदे गए हैं। लेकिन सभी वार्डाें में नए ठेले का इस्तेमाल के लिए इतने मजदूर नहीं दिये। यानी संसाधनाें का इस्तेमाल नहीं हाे रहा।

3. कचरा प्राेसेसिंग : साहेबगंज में कचरा प्राेसेसिंग प्लांट कचरा काे जमा हाे रहा है। उससे कुछ खाद बनी है। लेकिन अभी तक सबाैर कृषि विश्वविद्यालय के एक्सपर्ट से उसकी जांच नहीं करायी गयी कि वह कितनी कारगर है। जांच हाे जाती और खादी की बिक्री शुरू हाेती ताे काम आगे बढ़ता।

4. टाॅयलेट व यूरिनल : शहर में 17 कम्युनिटी टाॅयलेट और आठ स्थानाें पर यूरिनल बनाए गए। लेकिन उनमें बिजली-पानी की व्यवस्था ही नहीं की। अब यह चालू हाेने से पहले ही खराब हाे रहे हैं।

बेहतर रैंकिग के लिए कर रहे तैयारी

संसाधनाें काे और मजबूत कर रहे हैं, ताकि सर्वेक्षण में बेहतर रैंकिंग ला सकें। कम्युनिटी टाॅयलेट व यूरिनल की साफ-सफाई के लिए जल्द जिम्मेदारी तय हाेगी।

रवीश चंद्र वर्मा, पीआरओ, निगम

रैंकिंग में शहर कैसे पिछड़ता गया

पहली बार 2017 में देशभर के 434 शहराें में हुए सर्वे में भागलपुर का स्थान 275वां था। इसके बाद से लगातार यह पिछड़ता ही जा रहा है। 2018 में 4041 शहराें में 465वां व 2019 में 4237 शहराें में 412वां स्थान मिला। 2020 में 4242 शहराें में 379वां स्थान भागलपुर का आया था।

2021 में एक लाख से 10 लाख की आबादी वाले 374 शहराें में गया का 208वां व भागलपुर ने 366वां स्थान हासिल किया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

By bihardelegation21

Chandan kumar patel (BA) , I am not social worker I am Social Media Worker.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik? Ariana Grande Net Income आलिया भट्ट कितना कमाती है Aalia Bhath Earning
दिल्ली की बल्लेबाजी और गेंदबाजी होगी और स्ट्रोंग पॉलीथीन’ जैसी साड़ी पहनकर Alia Bhatt ने बिखेरा जलवा बनने वाली है बाहुबली 3 सुपरहिट’ ही नहीं…’सुपर फिट’ भी है ख़ेसारी लाल किसी एक्ट्रेस से कम नहीं है खेसारी की पत्नी कौन हैं Khesari Lal Yadav की एक्ट्रेस Neha Malik?
%d bloggers like this: